0 Jan Bhavana Party

Donate By

+91 996 820 6845

जन भावना पार्टी के मूल उद्देश्य

जन भावना पार्टी भारतीय निर्वाचन आयोग द्वारा पंजीकृत राजनीतिक दल है। हम आगामी सोच रखने वाले हैं और हमारा प्रमुख उद्देश्य राजनीति में बढ़ते हुए अपराधी-करण व भ्रष्टाचार को जड़ से खतम करना है। आज़ादी के 68 साल बाद भी समाज व देश का जो विकास होना था वह नहीं हो सका। इसका मूल कारण यही है की देश की राजनीतिक पार्टियां बदलाव की बातें करती आ रही हैं परंतु उस दिशा में काम नहीं किया। केवल जनता की भावनाओं को भड़काकर वोट बैंक की राजनीति करने का काम करती आ रही हैं।

जन भावना पार्टी शहीदों की विचार-धारा पर आधारित राजनीतिक पार्टी है। पार्टी के आदर्श हैं - लोक मान्य बाल गंगाधर तिलक, नेताजी सुभाष चन्द्र बोस, चन्द्र शेखर आज़ाद, भगत सिंह, रानी लक्ष्मी बाई आदि जिनके कारण हम आज स्वतंत्र भारत में खुली सांस ले रहे हैं।

पार्टी की सोच है के पूरे देश में कोई भी गरीब व्यक्ति भूखे पेट न सोये क्योंकि हर जाति-धर्म में गरीब हैं जिनको दो समय का भर पेट भोजन नहीं मिलता है। इसी को ध्यान में रखते हुए बीपीएल को आरक्षण एवं संरक्षण का मुद्दा है, जिससे की हर व्यक्ति को लाभ मिल सकेगा।

पार्टी का मानना है की पूरे देश में सभी नागरिकों को सरकारी अस्पतालों में निशुल्क चिकित्सा उपलब्ध हो। क्योंकि आज जितने भी सरकारी अस्पताल हैं वहाँ पर रोगियों को समुचित चिकित्सा सुविधा नहीं मिल पाती हैं। जिससे कि उनकी समय से पहले मौत ही जाती है। प्राइवेट अस्पतालों में जहां पर चिकित्सा सुविधाएं गुणवत्ता-पूर्ण हैं वहाँ पर सिर्फ पैसे वाले लोग ही जा सकते हैं।

जन भावना पार्टी बहुत लंबे समय से आंदोलन चलती आ रही है कि समान शिक्षा पूरे देश में लागू हो। जब देश एक है और सरकार एक है तो शिक्षा एक क्यों नहीं है? शिक्षा का व्यवसायीकरण हो चुका है। आज के समय में शिक्षा एक व्यवसाय बन चुकी है और शिक्षण-संस्थानो के मालिकों का सिर्फ एक उद्देश्य रह गया है, वो है ज्यादा से ज्यादा नोट छापना। इस वजह से गरीब परिवारों के ज़्यादातर बच्चे निरक्षर रह जाते हैं, और बहुत कम ही उच्च शिक्षा ग्रहण कर पाते हैं। आज आप जहां भी देखोगे उच्च पदों पर सिर्फ पैसे वालों के बच्चे मिलेंगे। आखिर इतना अंतर क्यों?

भारत दुनिया का सबसे बड़ा जनतंत्र देश होने के बावजूद सबसे ज्यादा असमानता वाला देश हैं, जबकि जनतंत्र की बुनियाद ही समानता के आधारों पर रखी जाती है। जन भावना पार्टी की कोशिश है की सबको निःशुल्क समान शिक्षा मिले जिससे भारत वाकई में सशक्त और मजबूत बने। साक्षर नागरिक आपस में भेदभाव नहीं रखता। इसलिए जब तक सरकार शिक्षा को गंभीरता से नहीं लेगी तब तक हमारे देश की समस्याएँ ज्यों की त्यों रहेंगी, चाहे सरकार किसी भी विचार-धारा की क्यों न हो। जब तक हर नागरिक को समान अवसर नहीं मिलेगा जब तक हमारा देश एक जनतंत्र नहीं होगा फिर चाहे कागजों में इसे दुनिया का सबसे बड़ा जनतंत्र कहा जाये।

पार्टी की मांग है की महिलाओं को विधानसभा और लोकसभा में 50 प्रतिशत की हिस्सेदारी मिले। जब जनसंख्या में महिलाएं आधी हैं तो सरकार में उनकी आधी हिस्सेदारी क्यों नहीं है? क्यों नहीं मिलता महिलाओं को उनका पूरा अधिकार? क्यों पुरुषवादी नीति के कारण आज भी महिलाओं के साथ भेद-भाव हो रहा है? सरकार के पास नीतियाँ भी हैं और योजनाएँ भी, लेकिन अभाव है तो सिर्फ नीयत का। भारत-भूमि पर हर नागरिक को समान अभिकार मिले इसी को ध्यान में रखते हुए जन भावना पार्टी जाति, धर्मवाद, भाषावाद व भेद-भाव की राजनीति नहीं करती है। अन्य राजनीतिक दल एक दूसरे को आपस में बांटकर राजनीति कर रहें हैं यही कारण है की देश में आज इतनी असमानता है की दुनिया का सबसे महंगा घर भी भारत में है और दुनिया की सबसे बड़ी झुग्गी-झोंपड़ी भी।

आज समाज में किन्नर-समाज बिलकुल अलग-थलग पद चुका है। अन्य लिंगो के साथ भेद-भाव इतना बढ़ चुका है की किसी भी सरकार या राजनीतिक दल ने आज तक किन्नर-समाज को मुख्य धारा से जोड़ने की कोशिश नहीं की है। जन भावना पार्टी ने विधानसभा और लोकसभा में किन्नर समाज को बढ़ाने के लिए 15 प्रतिशत सीटों पर उतारने की योजना बनाई है।

पार्टी शुरुआत से ही मजदूरों और किसानों के हक में लड़ाई लड़ती आ रही है की उन्हे भी पूरा हक़ मिलना चाहिए। न्यूनतम वेतन सिर्फ कागजों में ही लागू है क्योंकि सिर्फ 10 प्रतिशत कामगारों को उनका न्यूनतम वेतन मिलता है। सुविधाएं तो मिलती ही नहीं हैं। भारत एक कृषि-व्यवसायिक देश है और जब तक यहाँ के किसान को मजबूत नहीं किया जाएगा तब तक तरक्की की बात करना निरर्थक होगा। इसलिए पार्टी का मानना है की कृषि को कृषि उद्योग का दर्जा दिया जाये। किसानों को सस्ती दरों पे बिजली, पानी व डीजल दिया जाये। ऋण को ज़ीरो प्रतिशत पर सुविधा-पूर्ण उपलब्ध कराया जाये। हर किसान का व्यक्तिगत बीमा कराया जाये जिससे फसल बरबादी पर आत्महत्याओं को काबू करा जा सके और नुकसान की भरपाई हो। देश के हर शिक्षार्थी को मुफ्त यात्रा के पास मिलें, चाहे रेल हो या बस। गरीब बच्चों को बिना गारंटी के उच्च शिक्षा ग्रहण करने के ज़ीरो प्रतिशत पर आवश्यकता-अनुसार लोन दिया जाये और नौकरी लगने पर आसान किश्तों में वसूली की जा सके।

आज देश में बुजुर्गों की स्थिति बहुत ही ज्यादा दयनीय है। उनके परिवार वाले उनकी अवहेलना करते हैं। और किसी भी सरकार ने आज तक इस समस्या से निपटने की लिए कोई योजना नहीं बनाई है। पार्टी की मांग है की हर विधान-सभा क्षेत्र में कम-से-कम एक वृद्धाश्रम की स्थापना की जाये तथा बुजुर्गों के हर मुमकिन सुविधा मुहैया कराई जाये। वरिष्ठ नागरिकों को भी जीने का हक़ है।

महानगरों में आज के समय में पार्किंग की बहुत ही बड़ी अव्यवस्था है। हर निगम क्षेत्र में कम-से-कम एक मल्टी-लेवेल पार्किंग की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये। पार्किंग अव्यवस्था के कारण आए दिन झगड़े और दंगे-फसाद होते रहते हैं जिनको मल्टी-लेवेल पार्किंग बनाने से टाला जा सकता है। अतिक्रमण भी एक बहुत बड़ी समस्या बन चुका है जिसके कारण नागरिकों को बहुत ज्यादा परेशानी उठानी पड़ती है।

पार्टी का एक बहुत महत्वपूर्ण उद्देश्य है - देश की न्याय-प्रणाली को सख्त व पारदर्शी बनाना जिससे हर नागरिक निर्भय होकर शांति का जीवन जी सके। महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराधों से निपटने के लिए फास्ट-ट्रेक कोर्ट बनाए जाएँ जिससे आए दिन होने वाले जघन्य अपराधों पर अंकुश लग सके। देश की राजनीतिक पार्टियां दूसरे देश के दुश्मनों को संभालने की बात करती हैं जबकि हमारी बहू-बेटियाँ खुली सांस नहीं ले पाती हैं। महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों का जल्द-से-जल्द निपटारा होगा और अपराधियों को कड़ी-से-कड़ी सजा मिलेगी तभी हमारी बहू-बेटियाँ सुखी जीवन व्यतीत कर सकेंगी।

जन भावना पार्टी की देश के नागरिकों से विनम्र अपील है की अगर आप लोग अपना मत देकर जन भावना पार्टी को राज्य व केंद्र में लाते हैं तो पार्टी ईमानदारी के साथ सभी मुद्दों को पूरा करेगी। और पार्टियों ने जो काम अधूरे छोड़ दिये हैं उनको हम पूरा करेंगे।

हम आपको विश्वास दिलाते हैं की हम भारत को फिर से विश्व-ताकत बनाएँगे। आप सभी से अपील है की जन भावना पार्टी का सदस्य बनकर देश को मजबूत बनाने का काम करें।

धन्यवाद

अवधेश मिश्रा

Connect with us on

2012-2014 Jan Bhavana Party All Rights Reserved

Designed And Maintained By Azileads